Tuesday, April 23, 2024
Hometutorialडिजिटल मार्केटिंग क्या है कैसे करें

डिजिटल मार्केटिंग क्या है कैसे करें

आज के युग में सब ऑनलाइन हो गया है। इंटरनेट ने हमारे जीवन को बेहतर बनाया है और हम इसके माध्यम से कई सुविधाओं का आनंद केवल फ़ोन या लैपटॉप के ज़रिये ले सकते है।
इंटरनेट से बहुत कुछ कर सकते हैं, जैसे ऑनलाइन शॉपिंग, टिकट बुकिंग, रिचार्ज, बिल भुगतान, ऑनलाइन ट्रांसफर आदि। यूजर्स के इंटरनेट के प्रति रुझान से कंपनियां डिजिटल मार्केटिंग को अपना रहे हैं।

यदि हम बाजार आंकड़ों को देखें तो लगभग 80 प्रतिशत ग्राहक किसी भी उत्पाद या सेवा को खरीदने से पहले ऑनलाइन खोज करते हैं। इसलिए, किसी भी व्यवसाय के लिए डिजिटल मार्केटिंग महत्वपूर्ण हो जाती है।

डिजिटल मार्केटिंग मतलब क्या है?

डिजिटल मार्केटिंग अपनी वस्तुओं और सेवाओं को डिजिटल उपकरणों से बेचने की प्रतिक्रिया है।डिजिटल मार्केटिंग इंटरनेट पर करते हैं। हम इससे इंटरनेट, कंप्यूटर, मोबाइल फोन, लैपटॉप, वेबसाइट आदि से जुड़ सकते हैं।

1980 के दशक में पहली बार डिजिटल मार्किट बनाने की कोशिश की गई, लेकिन यह संभव नहीं हो पाया। 1990 के दशक में इसका नाम और प्रयोग शुरू हुआ।
डिजिटल मार्केटिंग के माध्यम से उत्पादक अपने ग्राहक तक पहुंच और उनकी आवश्यकताओं पर नज़र रख सकते हैं। डिजिटल मार्केटिंग ग्राहक की रुझान और चाहत को जान सकता है। सरलता से कहें तो डिजिटल मार्केटिंग डिजिटल तकनीक का उपयोग करके ग्राहकों तक पहुंचने का एक तरीका है।

नए ग्राहकों तक पहुंचने का सरल तरीका डिजिटल मार्केटिंग है। यह विपणन कार्य करता है। यह भी ऑनलाइन मार्केटिंग कहलाता है। डिजिटल मार्केटिंग में विपणन को कम समय में अधिक लोगों तक पहुंचाया जाता है। यह अध्ययन और विकास का क्षेत्र है।

डिजिटल मार्केटिंग की क्या जरूरत है? [Digital Marketing का महत्व]

यह आधुनिकता का दौर है, और आज सब कुछ आधुनिक बना हुआ है। यही कारण है कि इंटरनेट भी जंगल में फैल चुकी आधुनिकता का एक हिस्सा है। डिजिटल मार्केटिंग इंटरनेट पर काम कर सकती है।

वर्तमान समाज समय की कमी से जूझ रहा है, इसलिए डिजिटल मार्केटिंग अनिवार्य है। हर व्यक्ति जो इंटरनेट से जुड़ा है, इसका उपयोग आसानी से हर जगह कर सकता है। सोशल मीडिया पर आपसे बात करने में कोई समस्या नहीं होगी, लेकिन किसी से मिलने को कहो तो वे कहेंगे कि मेरे पास समय नहीं है। यही कारण है कि आजकल डिजिटल मार्केटिंग लोकप्रिय हो रही है।

इंटरनेट के माध्यम से लोग अपने मनपसंद व आवश्यक सामान आसानी से खरीद सकते हैं। अब बाजार में जाने से लोग बच रहे हैं, इसलिए डिजिटल मार्केटिंग अपने उत्पादों और सेवाओं को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने में मदद करती है। डिजिटल मार्केटिंग बहुत कम समय में एक ही वस्तु के कई संस्करण दिखा सकता है और ग्राहक जो चाहते हैं उसे तुरंत खरीद सकते हैं। इससे ग्राहक बाजार में जा सकते हैं और वस्तुओं को खरीदने में लगने वाले समय को बचाते हैं।

आज इसकी जरूरत है। व्यापारी भी लाभ पा रहा है। वह भी जल्दी से अधिक लोगों से जुड़ सकता है और अपने उत्पाद की खूबियाँ लोगों तक पहुंचा सकता है।

आजकल डिजिटल मार्केटिंग की मांग

जैसा कि आप सब जानते हैं, परिवर्तन जीवन का नियम है। पुराने और वर्तमान जीवन में कितना बदलाव हुआ है और आज इंटरनेट का जमाना है वर्तमान में हर रंग का व्यक्ति इंटरनेट से जुड़ा हुआ है, इसलिए सभी लोगों को एक जगह एकत्र करना बहुत आसान है, जो पहले कभी संभव नहीं था। हम भी इंटरनेट के माध्यम से सभी ग्राहक और व्यवसायियों से संपर्क कर सकते हैं।

आजकल, डिजिटल मार्केटिंग की मांग बहुत बढ़ गई है। व्यापारी जो अपना उत्पाद बना रहा है, आसानी से अपने ग्राहकों तक पहुंच रहा है। इससे डिजिटल व्यापार में वृद्धि हो रही है ।

पहले विज्ञापनों का उपयोग करना पड़ा। ग्राहक पहले उसे देखकर पसंद करता था, फिर खरीदता था। लेकिन अब उत्पाद सीधे ग्राहक तक पहुंचा जा सकता है। व्यापारी अपना उत्पाद अपने ग्राहकों को दिखाने के लिए गूगल, फेसबुक, यूट्यूब आदि का उपयोग कर रहे हैं। व्यापारी और उपभोक्ता दोनों इस व्यापार में भाग ले सकते हैं।

हर व्यक्ति को आराम से बिना किसी प्रयास के प्रत्येक उपयोग की वस्तु मिलती है। व्यवसायी को भी अखबार, पोस्टर या विज्ञापन का उपयोग करने का विचार नहीं करना पड़ता। यह हर सुविधा के लिए आवश्यक है। साथ ही, लोग डिजिटल मार्किट की ओर बढ़ा रहे हैं। यह एक व्यापारी को खुशी का विषय है। जैसा कि कहा जाता है, “जो दिखता है वही बिकता है” डिजिटल बाजार इसका एक अच्छा उदाहरण है।

डिजिटल मार्केटिंग में कई प्रकार हैं

पहले आपको बता दें कि डिजिटल मार्केटिंग का एकमात्र साधन “इंटरनेट” है। हम सिर्फ इंटरनेट पर कई वेबसाइटों से डिजिटल मार्केटिंग कर सकते हैं। हम आपको इसके कुछ रूपों के बारे में बताने जा रहे हैं

(i) सर्च इंजन औप्टीमाइज़ेशन (SEO) :—

एक तकनीक है जो आपकी वेबसाइट को सर्च इंजन परिणामों में सर्वश्रेष्ठ स्थान दिलाता है, इससे अधिक दर्शकों को लाता है। इसके लिए हमें अपनी वेबसाइट को SEO और कीवर्ड नियमों के अनुसार बनाना होगा।

(ii) सोशल मीडिया :—


सोशल मीडिया कई वेबसाइटों से बनता है, जैसे Facebook, Twitter, Instagram, LinkedIn, आदि। एक व्यक्ति सोशल मीडिया पर अपने विचारों को हजारों लोगों के सामने रख सकता है। आप सोशल मीडिया के बारे में बहुत कुछ जानते हैं। हम बार-बार इन वेबसाइटों पर विज्ञापन देखते हैं। यह विज्ञापन के लिए एक प्रभावी साधन है।

(iii) ई-मेल :—

किसी भी कंपनी द्वारा अपने उत्पादों को के माध्यम से भेजना ई-मेल मार्केटिंग कहलाता है। ईमेल मार्केटिंग बहुत जरूरी है क्योंकि कोई भी कंपनी अपने ग्राहकों को समय पर नए प्रस्ताव और छूट देना चाहती है।

(iv) यूट्यूब चैनल :—

या YouTube Channel, सोशल मीडिया का एक माध्यम है जिसके माध्यम से उत्पादक अपने उत्पादों को लोगों को प्रत्यक्ष रूप से पहुंचा सकते हैं। इस पर लोग अपनी प्रतिक्रिया भी दे सकते हैं। यूट्यूब एक ऐसा माध्यम है जहां बहुत से लोग रहते हैं, यानी बहुत से लोग। ये एक लोकप्रिय और सुलभ माध्यम है जिसमें आप अपने उत्पाद को वीडियो बनाकर दिखा सकते हैं।

(v) अनुबंधित मार्केटिंग :—


अफिलिएट मार्केटिंग का अर्थ है उत्पादों को वेबसाइट, ब्लोग या लिंक के माध्यम से बेचने से लाभ मिलता है। इसमें आप एक लिंक बनाते हैं और अपने उत्पाद को लिंक करते हैं। आपके उत्पाद पर मेहन्ताना मिलता है जब ग्राहक उस लिंक को दबाकर खरीदता है।

(vi) ऐडवर्टाइज़िंग :

पे पर क्लिक , या PPC मार्केटिंग, विज्ञापन देखने के लिए आपको भुगतान करना पड़ता है। जैसा कि नाम से स्पष्ट है, इस पर क्लिक करते ही आपको पैसे मिलते हैं। यह हर तरह के विज्ञापनों के लिए है।यह विज्ञापन बार-बार आते हैं। इन विज्ञापनों को देखने पर पैसे मिलते हैं। यह एक और डिजिटल मार्केटिंग प्रकार है।

(vii) एप्स मार्केटिंग :—

का अर्थ है इंटरनेट पर विभिन्न ऐप्स बनाकर लोगों तक पहुंचाने और उन पर अपने उत्पादों का प्रचार करना। यह डिजिटल मार्केटिंग का सर्वश्रेष्ठ तरीका है। आज बहुत से लोग स्मार्ट फोन का उपयोग कर रहे हैं। एप बड़ी-बड़ी कंपनियों द्वारा बनाए जाते हैं और इसे लोगों तक पहुंचाए जाते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग के लाभ: 

हम आपको डिजिटल मार्केटिंग के लाभों के बारे में बता रहे हैं—

(i) आप अपनी वेबसाइट पर एक ब्रोशर बनाकर लोगों के लेटेर-बॉक्स पर अपने उत्पाद का विज्ञापन भेज सकते हैं। कितने लोग आपको देख रहे हैं भी जान सकते हैं।

(ii) वेबसाइट व्यापार: वेबसाइट जिसमें सबसे अधिक दर्शक हैं— पहले आपको इसकी जानकारी होनी चाहिए, फिर उस वेबसाइट पर अपनी विज्ञापनों को प्रदर्शित करें ताकि अधिक लोग आपकी सामग्री देख सकें।

(iii) यौन मॉडलिंग: इससे पता चल सकता है कि आज लोग किस उत्पाद में रुचि ले रहे हैं या किस तरह की विज्ञापनों को देख रहे हैं। इसके लिए एक विशिष्ट तकनीक का उपयोग करना चाहिए और अपने उपभोक्ताओं की रुचि या हरकतों पर नज़र रखना चाहिए।

यह महत्वपूर्ण है कि आप अपने ग्राहक से किस प्रकार संपर्क बना रहे हैं। ऐसा करने से आपका व्यवसाय बढ़ सकता है क्योंकि आप उनकी आवश्यकताओं और रुचि को भी देखते हैं।

उन्हें आप पर विश्वास होना भी आवश्यक है, जिससे वे विज्ञापन देखकर आपका उत्पाद खरीदने में संकोच न करें और तुरंत ले लें। आपको उन पर विश्वास करना होगा। आपको ग्राहक को आश्वस्त करना चाहिए। ईबुक आपकी सहायता कर सकता है अगर किसी को कुछ अच्छा नहीं लगता तो उसको बदलने के लिये उससे संदेश भेजने में।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular