Sunday, July 21, 2024
HomeBloggingSEO Friendly Article कैसे लिखे उसके 10 + टिप्स देखे |

SEO Friendly Article कैसे लिखे उसके 10 + टिप्स देखे |

हेलो दोस्तों स्वागत है आपका  ब्लॉग के एक और नए ब्लॉग पोस्ट में जिसमें हम बात करने वाले हैं SEO Friendly Article कैसे लिखे. हर किसी ब्लॉगर या वेबसाइट ओनर का ब्लॉग पोस्ट लिखने का मुख्य मकसद होता है कि वह अपने ब्लॉग पोस्ट को गूगल के पहले पेज में रैंक करवाकर अधिक से अधिक ट्रैफिक प्राप्त करें. और ब्लॉग पोस्ट को गूगल के पहले पेज में रैंक करवाने के लिए आपको SEO फ्रेंडली आर्टिकल लिखना पडता है.

एक SEO फ्रेंडली आर्टिकल ही सर्च इंजन में अच्छा परफॉर्म कर पाते हैं और ब्लॉग पर ट्रैफिक लेकर आते हैं. जो नए ब्लॉगर होते हैं उन्हें पता नहीं होता है कि SEO Friendly आर्टिकल क्या होता है और SEO फ्रेंडली आर्टिकल कैसे लिखें, इसलिए मैंने सोचा क्यों ना आज आपको SEO फ्रेंडली आर्टिकल लिखने के विषय में जानकारी दे.

मुझे पूरी उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पढने के बाद आप भी SEO फ्रेंडली आर्टिकल लिखना सीख जायेंगे. तो चलिए आपका अधिक समय ना लेते हुए हम शुरू करते हैं इस लेख को.

SEO Friendly आर्टिकल क्या है

 SEO का मतलब होता है Search Engine Optimization और SEO फ्रेंडली आर्टिकल ऐसा आर्टिकल होता है, जिसे सर्च इंजन में अच्छी पोजीशन में रैंक करवाने के लिए ऑप्टिमाइज़ किया गया होता है. SEO फ्रेंडली आर्टिकल लिखने का मुख्य उद्देश्य अपने आर्टिकल को सर्च इंजन बोट्स को अच्छे तरीके से समझाना होता है ताकि बोट्स आपके आर्टिकल को समझकर उसे सही कीवर्ड पर रैंक करवा सकें. आप SEO फ्रेंडली आर्टिकल लिखकर अपने ब्लॉग के ट्रैफिक को बढ़ा सकते हैं.

SEO Friendly Article कैसे लिखें

SEO Friendly आर्टिकल लिखना इतना भी ज्यादा कठिन नहीं है, आप नीचे बताये गए कुछ स्टेप को फॉलो करके SEO फ्रेंडली आर्टिकल लिख सकते हैं. आपको बस आर्टिकल लिखते समय इन सभी स्टेप को फॉलो करना है. अगर आप बिल्कुल नए ब्लॉगर हैं तो इन सभी पॉइंट की लिस्ट बनाकर अपने Notepad में save कर सकते हैं, और जब भी आर्टिकल लिखें तो इस लिस्ट को एक बार Check कर सकते हैं.

चलिए अब SEO Friendly Article कैसे लिखे आपको समझाते है

1. कीवर्ड रिसर्च करें

आर्टिकल लिखने से पहले आप अच्छी तरह से कीवर्ड सर्च करे र ऐसे कीवर्ड को Find करें जिनमें सर्च Volume भी ठीक – ठाक हो और Competition भी कम हो. क्योंकि ऐसे को आप बहुत कम समय में रैंक करवा सकते हैं. कीवर्ड रिसर्च ब्लॉग लिखने का भी एक सबसे महत्वपूर्ण भाग है क्योंकि कोई भी ब्लॉग कीवर्ड पर ही रैंक करता है.

कीवर्ड रिसर्च करना बहुत ज्यादा कठिन कार्य नहीं है आप फ्री कीवर्ड रिसर्च टूल की मदद से एक अच्छा कीवर्ड Find कर सकते हैं और उस पर आर्टिकल तैयार कर सकते हैं. एक नए ब्लॉगर को हमेशा Long Tail Keyword पर काम करना चाहिए.

2. टाइटल में कीवर्ड का इस्तेमाल करें

आपको ब्लॉग पोस्ट के टाइटल में कीवर्ड का इस्तेमाल करना चाहिए, क्योंकि जिन ब्लॉग पोस्ट के टाइटल में फोकस कीवर्ड का इस्तेमाल होता है वह सर्च इंजन में अच्छा परफॉर्म करते हैं. टाइटल यूजर को सर्च इंजन रिजल्ट पेज पर दिखाई देता है इसलिए आपको टाइटल में स्पष्ट रूप से यह भी बताना होता है कि यूजर को आपके आर्टिकल में क्या जानने को मिलेगा.

3.पहले पैराग्राफ में कीवर्ड का इस्तेमाल करें

आपको अपने आर्टिकल के पहले पैराग्राफ में कीवर्ड का इस्तेमाल करना चाहिए और कीवर्ड को शुरुवात के 100 शब्दों के अन्दर लिखने की कोशिस करें. साथ ही आपको एक बात का ध्यान रखना चाहिए कि कीवर्ड का बार – बार इस्तेमाल ना करें क्योंकि यह गूगल के गाइडलाइन के खिलाफ है.

आपको एक 1000 Word के आर्टिकल में अधिकतम 4 या 5 बार ही फोकस कीवर्ड का इस्तेमाल करना चाहिए और बाकी LSI कीवर्ड का.

4. डिस्क्रिप्शन में कीवर्ड का इस्तेमाल करें

Description पुरे आर्टिकल की एक Summary होती है, जिसमे आप सर्च इंजन को बताते हैं कि आपका आर्टिकल किस विषय पर लिखा गया है. आप अधिकतम 150 शब्दों का Description लिख सकते है. आपको डिस्क्रिप्शन के शुरुवात में भी फोकस कीवर्ड का इस्तेमाल करना चाहिए.

5 .परमालिंक में कीवर्ड का इस्तेमाल करें

परमालिंक  या ब्लॉग पोस्ट का URL होता है. आपको अपने परमालिंक में भी फोकस कीवर्ड को add करना है. और url बनाना है. एक बात का ध्यान रखें कि परमालिंक में कीवर्ड के दो शब्दों को Separate करने के लिए (-) का चिन्ह जरूर लगायें.

6. हैडिंग टैग का इस्तेमाल करें

एक आर्टिकल के अंदर विभिन्न टॉपिक को कवर करने के लिए Heading tageका इस्तेमाल करें. हैडिंग टैग मुख्य रूप से 6 प्रकार के होते हैं H1 से लेकर H6 तक. आपको पूरे आर्टिकल में केवल एक ही H1 टैग का इस्तेमाल करना है और बाकी के हैडिंग टैग आप अपनी आवश्यकता अनुसार इस्तेमाल कर सकते हैं. आप अपने आर्टिकल के H1 टैग में भी फोकस कीवर्ड का इस्तेमाल करें.

7. महत्वपूर्ण शब्द को Bold करें

हर किसी ब्लॉग पोस्ट में कुछ ऐसे महत्वपूर्ण शब्द होते हैं जिन पर विशेष जोर देने के लिए बोल्ड कर दिया जाता है ताकि विजिटर को उन शब्दों को ढूढने में आसानी होगी. अगर आपके भी ब्लॉग पोस्ट में कुछ महत्वपूर्ण Word हैं तो उन्हें जरुर बोल्ड कीजिये.

8. Image में Alt Tag का प्रयोग करें

सर्च इंजन क्रॉलर इमेज को पहचान नहीं पाते हैं इसलिए किसी इमेज को समझने के लिए क्रॉलर इमेज में लिखे Alt Tag को देखते हैं और उसी के अनुरूप इमेज को इंडेक्स करते हैं. आपको हमेशा इमेज के Relavent Alt Tag का इस्तेमाल करना चाहिए.

जैसे अगर आप Blogging से सम्बंधित इमेज का इस्तेमाल अपने ब्लॉग पोस्ट में कर रहे हैं तो आपको Alt tag में भी Blogging लिखना होगा. इसके साथ ही बेहतर  के लिए आप कॉपीराइट फ्री इमेज का इस्तेमाल करें तथा इमेज के साइज़ को कंप्रेस करें.

9. Internal Link करें

आप विजिटर को अपने ब्लॉग में देर तक रोक के रख सकते हैं. अगर आपको Internal Linking का मतलब पता नहीं है तो आपकी जानकारी के लिए बता दूँ जब अपने एक पोस्ट में ही दुसरे पोस्ट को लिंक किया जाता है तो उसे Internal Link कहते हैं.

आप अपने ब्लॉग पोस्ट से सम्बंधित दुसरे पोस्ट का लिंक add कर सकते हैं. जैसे आप ब्लॉग्गिंग पर आर्टिकल लिख रहे है तो उस पोस्ट के अन्दर ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित दुसरे पोस्ट का लिंक add करें. इससे कुछ विजिटर आपके दुसरे पोस्ट तक भी पहुँच जायेंगे, जिससे आपका बाउंस rate मेन्टेन रहता है और साथ में ही इंटरनल लिंक  भी पास होता है जो ब्लॉग की अथॉरिटी को बढाता है.

10. External Link करें

जब आप अपने ब्लॉग पोस्ट में किसी दूसरी वेबसाइट का लिंक add करते हैं तो उसे एक्सटर्नल लिंक कहते हैं. आपको हाई अथॉरिटी वेबसाइट को ही अपने ब्लॉग पोस्ट में एक्सटर्नल लिंक करना चाहिए. इसके साथ ही जिन External Link का आप इस्तेमाल कर रहे हैं वह सही होने चाहिए. मतलब आपने जिस Word  या Topic के लिए लिंक लगाया है उसे उसी Topic से Relevant पेज में Redirect होना चाहिए.

11.High Quality कंटेंट लिखें

आप चाहें SEO या कीवर्ड का इस्तेमाल जितने अच्छे से कर लो लेकिन जब तक आपका कंटेंट अच्छा नहीं होगा वह सर्च इंजन में रैंक नहीं करेगा. कोशिस करें कि आप जिस भी टॉपिक पर आर्टिकल लिख रहे हैं उस पर Detailed आर्टिकल लिखें जिससे यूजर को अपने प्रश्नों का संतोषपूर्ण जवाब मिल सके.

जब यूजर आपके आर्टिकल से खुश रहेगा तो गूगल के नज़रों में भी आपके आर्टिकल की Value बढ़ जाती है. इसलिए सबसे ज्यादा फोकस अच्छा कंटेंट बनाने में करें.

निष्कर्ष: SEO Friendly Article कैसे लिखे हिंदी में

आज के इस लेख में हमने आपको SEO Friendly Article Kaise Likhe के बारे में पूरी जानकारी दी है जिसे पढ़कर आप SEO फ्रेंडली आर्टिकल लिखना सीख गए होंगे. SEO फ्रेंडली आर्टिकल लिखना कोई Rocket Scince नहीं है आपको बाद प्रोसेस पता होनी चाहिए, और यह नियमित अभ्यास से भी संभव हो सकता है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular