Thursday, July 18, 2024
HomeBloggingThe Magic of SEO डिजिटल मार्केटिंग में इसका महत्व: Unveiled!

The Magic of SEO डिजिटल मार्केटिंग में इसका महत्व: Unveiled!

आज की दुनिया में ऑनलाइन बिजनेस का अधिक स्कोप है लगभग हर चीज Internet पर उपलब्ध है । ऐसे में यदि आपको अपना ऑनलाइन बिजनेस चलाना है तो आपके पास Digital chops का होना बहुत जरूरी है । सफलता के कोर्स से ये स्किल आप हासिल कर सकते हैं ।

SEO क्या है – What is SEO in Hindi:-

SEO का फुल फॉर्म है Hunt Machine Optimization । यह एक ऐसी तकनीक है जो वेबसाइटों को Google, Bing या Yahoo जैसे सर्च इंजनों में ऊचे रैंक में लाने के लिए मदद करती है । हम कह सकते हैं कि SEO एक वेबसाइट को Optimize करने की प्रक्रिया है ताकि यह Hunt Machine Result runners( SERPs) में अच्छी रैंक करे और सर्च इंजन से ट्रैफिक उत्पन्न करे । इस प्रक्रिया में On- runner Optimization, Off- runner Optimization, link structure और Keyword exploration जैसी विभिन्न तकनीकें शामिल हैं ।

Hunt Machine क्या है ये हम सभी को पता है । जब बात सर्च इंजन की हो रही है तब आपकी जानकारी के लिए बता दूँ की, Google पूरी दुनिया का सबसे popular hunt machine है इसके अलावा Bing, Yahoo जैसे और भी hunt machine मौजूद है । SEO के मदद से हम अपने blog को सभी hunt machine पर पहले position पर रख सकते हैं ।

जैसे मान लीजिये हम Google में जाकर कुछ भी keyword type करके hunt करते हैं तो उस keyword से related जितने भी contents होते हैं वो आपको Google दिखा देता है । ये contents जो हमे नज़र आते हैं वो सभी अलग अलग blog से आते हैं ।

जो affect हमे सबसे ऊपर दिखाई देता है वो Google में पहले Rank पर है तभी वो सबसे ऊपर अपनी जगह बनाये रखा है । पहले नंबर पर है मतलब की उस blog में SEO का बहुत अच्छी तरीके से इस्तेमाल किया गया है जिससे की उसमे ज्यादा callers आते है और इसी वजह से वो blog प्रचलित हो गया है ।

SEO हमारे blog को गूगल पर पहले Rank पर लाने के लिए सहायता करता है । ये एक तकनीक है जो आपके website को hunt machine के hunt affect पर सबसे ऊपर रख कर उसमे callers की संख्या को बढाती है ।

आपका website सर्च रिजल्ट में सबसे ऊपर हो तो ज्यादातर internet stoner सबसे पहले आपके point में ही visit करेंगे जिससे आपके point में ज्यादा से ज्यादा business होने की संभावना बढ़ जाती है और आपकी income भी अच्छी होने लगती है । अपने website पे Organic business बढ़ाने के लिए SEO का इस्तेमाल करना बहुत जरुरी है ।

SEO Blog के लिए क्यों जरुरी है?

आप ने जान लिया है की SEO क्या है, चलिए अब जानते हैं की SEO ब्लॉग के लिए क्यूँ जरुरी है । अपने website को लोगों तक पंहुचाने के लिए हम SEO का Use करते है |

मान लीजिये मैंने एक website बना लिया उसमे अच्छे अच्छे high quality contents भी publish कर दिया लेकिन अगर मैंने SEO का इस्तेमाल नहीं किया तो मेरा website लोगों तक नहीं पहुँच पायेगा और मेरे website बनाने का भी कोई फायेदा नहीं होगा।

अगर हम SEO का इस्तेमाल नहीं करेंगे तो जब भी कोई stoner कोई keyword hunt करेगा, तो आपके website में उस keyword से सम्बंधित कोई content मौजूद है तब भी stoner आपके website को access नहीं कर पायेगा ।

ऐसा इसलिए क्यूंकि hunt machine आपके point को ढूंढ नहीं पायेगा और नाही आपके website के content को अपने database पर store कर पायेगा । जिससे आपके website में business होना बहुत ही मुश्किल हो जायेगा । इसलिए आपके साइट में सही ढंग से SEO करना बहुत ही ज़रूरी होता है ।

SEO को समझना ज्यादा मुश्किल नहीं है अगर आपने इसे सिख लिया तो अपने blog को बहुत ही बेहतर बना सकते हैं और उसकी value hunt machine में बढ़ा सकते हैं ।

SEO को सिख लेने के बाद जब उसका इस्तेमाल अपने blog के लिए करते हैं तो आपको उसका affect तुरंत नहीं दिखेगा इसके लिए आपको कुछ वक्त तक सब्र रख करना होगा । जैसे की मैंने पहले ही कह दिया है की कैसे ranking के लिए और business के लिए SEO करना जरुरी है ।

SEO के प्रकार – Types of SEO in Hindi:-

SEO दो प्रकार के होते हैं एक है On- runner SEO और दूसरा है Off- runner SEO । इन दोने का काम बिलकुल अलग- अलग है चलिए हम इनके बारे में भी जान लेते हैं ।

  1. On-runner SEO
  2. Off-runner SEO
  3. Local SEO

1. On-runner SEO क्या है?

On -runner SEO का काम आपके blog में होता है। इसका मतलब है की अपने website को ठीक तरह से डिज़ाइन करना जो SEO friendly हो।

SEO के rule को follow कर अपने website में template का इस्तेमाल करना। अच्छे कंटेंट लिखना और उनमे अच्छे keywords का इस्तेमाल करना जो search engine में सबसे ज्यादा खोजा जाता है।

Keywords का इस्तेमाल page में सही जगह करना जैसे TitleMeta descriptioncontent में keyword का इस्तेमाल करना इससे Google को जानने में आसानी होती है की आपका कंटेंट किसके ऊपर लिखा गया है और जल्दी आपके website को Google page पर rank करने में मदद करता है जिससे आपके blog की traffic बढ जाती है।

On-runner SEO कैसे करे:-

यहाँ पर हम कुछ ऐसे ways के बारे में जानेंगे जिनकी मदद से हम अपने Blog या Website को On-runner SEO अच्छे तरीके से कर सकते है।

1Website Speed:-

Website speed एक बहुत ही महत्वपूर्ण Factor है SEO के दृष्टी से । एक check से पाया गया है की कोई भी Visitor ज्यादा से ज्यादा 5 से 6 seconds ही किसी blog या website पर रहता है।

अगर वो उस वक्त के अंदर नहीं खुला तब callers उसे छोड़ दूसरी तरफ चले जाते है । और ये बात Google के लिए भी लागु होती है क्यूंकि अगर आपका Blog जल्दी नहीं खुला तब एक negative signal Google के पास पहुँच जाता है की ये blog उतनी अच्छी नहीं है या ये ज्यादा fast नहीं है । तो जितना हो सके अपनी साईट की स्पीड अच्छी रखें ।

यहाँ मैंने कुछ important tips दिए है जिससे आप अपनी blog या website की speed presto कर सकते हैं ।

  • ज्यादा plugins का इस्तेमाल न करें
  • Simple और seductive theme का इस्तमाल करें
  • Image का size कम- से- कम रखें
  • W3 Total cache और WP super cache plugins का इस्तमाल करें

2Website की Navigation:-

अपनी blog या website में इधर उधर जाना आसानी होनी चाहिए होना चाहिए जिससे कोइ भी caller और Google को एक पेज से दूसरे पेज में जाने में कोई परेशानी ना हो । जितना सहज Website की Navigation होगी उतनी ही किसी भी सर्च machine को भी सहायता होगी साइट को navigate करने के लिए।

3Title Tag:-

अपनी website में टाइटल टैग बहुत ही अच्छा बनाना चाहिए जिससे की कोइ भी caller उसे पढ़े तो उसे जल्द से जल्द आपके टाइटल पर Click कर दे इससे आपका CTR भी बढ़ जायेगा।

कैसे बनायें अच्छे Title Label अपने Title में 65 शब्द से ज्यादा शब्दों का इस्तमाल न करें क्यूंकि Google 65 words के बाद google searches में title label show नही करता.

4Post का URL कैसे लिखें:-

आप हमेशा अपने post का URL जितना simple और छोटा हो सकता है उतना रखें।

5Internal Link:-

ये अपने Post को rank करने के लिए यह एक बेहतरीन तरीका है । इससे आप अपने Affiliated runners को एक दुसरे के साथ Interlinking कर सकते हैं । इससे आपके सभी इंटरलिंकेड पेजेज आसानी से rank हो सकते हैं ।

6Alt Tag:-

अपनेव वेबसाइट के post में images का इस्तमाल जरुर करें । क्यूंकि images सेआपको बहुत सारा business मिल सकती हैं इसलिए image को इस्तमाल करते समय उसमें ALT Label लगाना जरूर लगाए ।

7. Content, Heading और keyword:-

जैसे की हम सभी जानते हैं Content के बारे में की ये बहुत ही महत्वपूर्ण कड़ी है । क्यूंकि Content को King भी कहा जाता है और जितना अच्छा आपका Content होगा उतनीअच्छी point की valuation होगी । इसलिए कम से कम 800 words से ज्यादा words के Content लिखें ।

इससे आप जितनी ज्यादा हो सके उतनी ज्यादा जानकारी दे सकते हैं और ये SEO के लिए भी अच्छा है । कभी भी किसी दुसरे से Content न चुराएँ या dupe करें ।

Heading:-

अपने Composition के headlines पर खास ध्यान देना चाहिए क्यूंकि इससे SEO पर काफी परिणाम पड़ता है । Composition का Title तो H1 होता है और इसके बाद के Sub headlines को आप H2, H3 इत्यादि से नामांकित कर सकते हैं । इसके साथ आप focus keyword का जरुर इस्तमाल करे ।

Keyword:-

आप Composition लिखते समय LSI Keyword का इस्तमाल करें । इससे आप लोगों के Searches को आसानी से link कर पाते है हैं । इसके साथ important keywords को BOLD करें जिससे की Google और Callers को ये पता चले की ये जरुरी Keywords हैं और उनका ध्यान इसके तरफ आकर्षित होगा ।

2. Off-runner SEO क्या है?

Off- runner SEO में सारा काम blog के बाहार होता है । Off runner SEO में हमे अपने blog का प्रमोशन करना होता है जैसे बहुत से popular blog में जाकर उनके composition के उपर कमेंट करना और अपने website का link submit करना जिसे हम backlink कहते हैं । Backlink से वेबसाइट को बहुत फायेदा होता है ।

Social networking point जैसे Facebook, twitter, Instagram, etc. पर अपने website का seductive runner बनाये और अपने followers बढाइये इससे आपके वेबसाइट में ज्यादा callers बढ़ने के chances होते हैं।

बड़े बड़े blogs में जो बहुत ही मशहूर हैं उनके blog पर guest post submit करीए इससे उनके blog पे आने वाले callers आपको जानने लगेंगे और आपके वेबसाइट पर business आना शुरू हो जायेगा।

Off-runner SEO कैसे करे:-

यहाँ पर में आप लोगों को कुछ Off- runner SEO ways के बारे में बताऊंगा जो की आपके लिए बहुत उपयोगी सिद्ध होगा आगे चलकर।

1. Search Engine Submission: अपने वेबसाइट को सही तरीके से Search Engine Page में submit करना चाहिए।

2. Bookmarking: अपनी blog या website के runner और post को जिस Website में Bookmark किया है उसी वाली में submit करना चाहिए ।

3. Directory Submission: अपने blog या website को popular high PR वाली Directory में submit करना चाहिए ।

4. Social Media: अपने blog या website के runner को Social Media पर Profile बनाना चाहिए और अपनी वेबसाइट का link announcement करदो जैसे की Facebook, twitter, LinkedIn।

5. Classified Submission: Free Classified Website में जाकर अपनी वेबसाइट का फ्री मे announce करना चाहिए ।

6. Q & A site: आप question and answer वाली वेबसाइट में जाकर कोई भी सवाल कर सकते हो और अपनी साईट का लिंक लगा सकते हैं ।

7. Blog Commenting : अपने Blog से Related ब्लॉग पर जाकर उनके पोस्ट में कमेंट कर सकते हैं और अपनी website का link लगा सकते हो (link वही लगाना चाहिए जहाँ website लिखा होता है)

8. Pin : आप अपनी वेबसाइट के image को Pinterest पर पोस्ट कर सकते हैं यह एक बहुत अच्छा तरीका है business बढाने करने का ।

9. Guest Post: आप अपनी वेबसाइट से सम्बंधित ब्लॉग पर जाकर Guest Post कर सकते हैं यह सबसे अच्छा रास्ता है जहाँ से आप do- follow link ले सकते हैं और वो भी बिलकुल सही तरीके से।

3. Local SEO क्या है?

अक्सर लोग यह पूछते है के Original SEO क्या है? मेरी मानें तो इसका जवाब इसके सवाल में ही छुपा हुआ है।

Original SEO को अगर विसलेसन करें तब ये दो शब्दों का समाहार है Original SEO । यानि की किसी original followership को ध्यान में रखकर किया जाने वाला SEO को Original SEO कहा जाता है ।

यह एक ऐसा तरीका है जिसमें की आपकी website या blog को ख़ास तरह से optimize किया जाता है जिससे की hunt machine पर आपका ब्लॉग या वेबसाइट बेहतर rank करे एक original followership के लिए ।

वैसे एक website की मदद से आप पुरे internet को target कर सकते हैं, वहीँ अगर आपको एक particular position को ही target करना चाहते है तब इसके लिए आपको Original SEO का इस्तमाल करना होगा।

इसमें आपको optimize करना होगा आपके शहर के नाम, वहीँ इसके Address की जानकारी को भी साथ में optimize करना होगा । वहीँ इसे संक्ष्यिप्त में कहें तब आपको कुछ ऐसे तरीके से अपने point को optimize करना होगा जिससे की लोगों को केवल online ही नहीं बल्कि offline में भी आपको जान सकें।

SEO Terms के बारे में जानकारी:-

यदि आपका कोई blog है या कोई website है तब तो आपको introductory SEO के बारे में बहुत कुछ पता होगा की ये किस तरह काम करता है । लेकिन मुझे पता हैं आप में से ऐसे बहुत सारे लोग हैं जिन्हें की introductory SEO Terms के बारे में भी कुछ बातो का पता नहीं है।

इसलिए मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को कुछ बहुत ही महत्वपूर्ण introductory SEO Terms के बारे में कुछ जानकारी दे दी जाये जिससे की आपको भी इसके बारे में पता चल सके।

Backlink:-

इसके in link या simply link भी कहा जाता है, ये एक तरह का hyperlink होता है किसी दुसरे website में जो की आपके Website के तरफ इशारा करता है । Backlinks SEO के नज़रिए से बहुत ही महत्वपूर्ण होता है, क्यूंकि ये किसी भी Webpage की Hunt Ranking को directly influence करता है ।

PageRank:-

PageRank एक algorithm है जिसे Google इस्तमाल करता है ये अनुमान लगाने लिए की वेब में कोन कोन सी Relative important runners स्तिथ हैं ।

Anchor text:-

किसी भी backlink का Anchor Text के प्रकार का एक textbook होता है जो की clickable होता है । यदि आपके Anchor Text में आपका Keyword अवेलेबल है तब तो ये आपको SEO के दृष्टी से भी काफी मदद करेगा ।

Title Tag:-

Title Label मुख्य रूप से Web runner का एक Title होता है और ये बहुत ही महत्वपूर्ण factor है Google’s Hunt Algorithm के लिए ।

Meta Tags:-

Title Label के जैसे ही Meta Tag के इस्तमाल से Search Machines को ये पता चलता है की runners में content में क्या है ।

Search Algorithm:-

Google’s hunt algorithm की मदद से हम ये जान सकते हैं की Internet में कोन सी Web Pages applicable हैं । लगभग 200 algorithms काम करती हैं Google के Search Algorithm में ।

SERP:-

SERP( Hunt Machine Results runner) ये principally उन्ही runners को show करता है जो की Google Search Machines के हिसाब से Applicable हों ।

Keyword Viscosity:-

इन Keyword Density से ये पता चलता है की Keyword Article में Keyword कितने बार इस्तमाल किया गया हैं । Keyword Density SEO की दृष्टी से काफी महत्वपूर्ण है ।

Keyword Stuffing:-

जैसे की मैंने पहले ही कहा है की Keyword viscosity SEO की दृष्टी से बहुत महत्वपूर्ण है लेकिन अगर कोई Keyword को जरुरत से ज्यादा इस्तमाल किया जाये तो उसे Keyword Stuffing कहते हैं । यह Negative SEO कहलाता हैं क्यूंकि इससे आपके Blog पर Negative Impact पड़ता है ।

Robots.txt:-

ये बस एक train होती है जिसे की Domain के Root में रखा जाता है । इसके इस्तमाल से hunt bots को ये सूचित किया जाता है की Website की Structure कैसी है ।

Organic और Inorganic Results क्या होते हैं?

SERP( Hunt Machine Result runner) पर बस दो तरह की rosters होती हैं एक है Organic और दूसरा है Inorganic ।

इसमें Inorganic Listing के लिए हमें Google को पैसे देने होते है । इसका मतलब यह Paid होते हैं और इसमें पैसों का भुक्तान करना पड़ता है ।

वहीँ Organic listing पूरी तरह से free होती है इसका मतलब बिना पैसे दिये हम Google के टॉप runner पर भी आ सकते हैं, लेकिन इसके लिए पहले आपको SEO करना होता है।

निष्कर्ष:-

आप सब समझ ही गए होंगे के SEO क्या है । यदि आपके मन में इस composition को लेकर कोई भी शंका हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप निचे commentary लिख सकते हैं ।

अब आप आसानी से SEO क्या होता है इसका जवाब बेझिझक दे सकते हैं । आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा ।

यदि आपको मेरी यह लेख Digital Marketing- SEO क्या है, कैसे करें? What’s SEO in Hindi अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तब अपनी प्रसन्नता और उत्त्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter, Instagram इत्यादि पर share कीजिये।

लेख को अंत तक पढने के लिए धन्यवाद||

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular